पुलिस जवानों एवं महिलाओं ने सीखे योग से तनाव मुक्त रहने के गुर

जम्मू : आम लोगों की जिंदगी की तुलना में डिफेंस, सिक्योरिटी जवान अधिक दुर्लभ एवं कठिनाई भरा जीवन जीते हैं। ऐसे में उन्हें तनाव से गुजरना पड़ता है। यह मधुमेह, ब्लड प्रेशर, थायराइड, अर्थराइटिस, सर्वाइकल आदि बीमारियों का कारण बनता है। ऐसे में योग ही एकमात्र ऐसा साधन है, जिसके करने से जवान इन बीमारियों से कोसों दूर रह सकता है।

यह बात आरोग्य भारती योग प्रकल्प के राष्ट्रीय प्रमुख जी श्रीनिवास मूर्ति ने जम्मू-कश्मीर पुलिस टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट विजयपुर में जवानों को योग के गुर सिखाते हुए कही। आरोग्य भारती जम्मू-कश्मीर की ओर से आयोजित इस एक दिवसीय कार्यशाला में 500 से अधिक जवानों ने भाग लिया। श्रीनिवास मूर्ति ने जवानों से कहा कि उन्हें तनावमुक्त जीवन जीने के लिए निरंतर योगासन करने चाहिए।

महिलाओं को मेंटल एवं फिजिकल स्ट्रेस से बचने के लिए अलग-अलग योगासन सिखाते हुए आरोग्य भारती योग प्रकल्प के अखिल भारतीय योग प्रमुख श्रीनिवास मूर्ति ने कहा कि यदि तनाव मुक्त रहना है तो हमें योग एवं साधना को अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा बनाना होगा। सैनिक कॉलोनी राम मंदिर में महिलाओं के लिए लगाए गए इस विशेष योग शिविर में 50 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया। श्रीनिवास मूर्ति ने महिलाओं से संबंधित कई बीमारियों का जिक्र करते हुए उससे निजात पाने के लिए योग क्रियाओं की जानकारी भी दी।

जम्मू-कश्मीर के सात दिवसीय दौरे पर आए श्रीनिवास मूर्ति 19 नवंबर तक अलग-अलग हिस्सों में जाएंगे। इसके अलावा वह आरोग्य भारती के चल रहे 15 योग केंद्रों का दौरा भी करेंगे। इस अवसर पर योगाचार्य महावीर गुप्ता, योग प्रमुख जम्मू-कश्मीर विजय सोनी, प्रात संगठन सचिव अभिषेक शर्मा एवं सैनिक कॉलोनी योग केंद्र संचालक सरोज भी उपस्थित थी।

Jammu Police jawans and women have learned to be stress free by the yoga

Jammu Police jawans and women have learned to be stress free by the yoga 01

Jammu Police jawans and women have learned to be stress free by the yoga 02

Jammu Police jawans and women have learned to be stress free by the yoga 04 Jammu Police jawans and women have learned to be stress free by the yoga 03